एशियन गेम्स: ऐथलेटिक्स में 1978 के बाद भारत का सबसे बेहतर प्रदर्शन, जीते सात गोल्ड

0
135

जकार्ता
ट्रैक ऐंड फील्ड खिलाड़ियों ने 1978 के एशियन गेम के बाद अपना सबसे बेहतर प्रदर्शन दिखाया है। गुरुवार को उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन करते हुए ऐथलेटिक्स टीम ने अपना स्वर्ण बटोरो अभियान जारी रखा। हालांकि हॉकी टीम की हार के कारण भारत पूरे प्रदर्शन में चार चांद लगाने से जरूर चूका।

अनुभवी जिनसन जॉनसन और महिला 4×400 मीटर रिले टीम ट्रैक एवं फील्ड प्रतियोगिताओं के अंतिम दिन छाए रहे। भारत ने इस स्पर्धा का अंत सात गोल्ड, 10 सिल्वर और दो ब्रॉन्ज मेडल के साथ किया। भारत ने इस स्पर्धा का अंत सात स्वर्ण, 10 रजत और दो कांस्य पदक के साथ किया जो 1978 से उसका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

भारत के हुए 13 गोल्ड
भारत ने पिछले खेलों में 57 मेडल जीते थे लेकिन आज उसके पदकों की संख्या 59 तक पहुंच गई जबकि अभी दो दिन की प्रतियोगिताएं बाकी हैं। भारत के गोल्ड पदकों की संख्या भी 13 तक पहुंच गई है जो 2014 से दो अधिक है। जॉनसन 800 मीटर दौड़ के मेडल की दौड़ में हमवतन मनजीत सिंह से पिछड़ गए थे लेकिन आज वह इसकी भरपाई करने में सफल रहे। जॉनसन ने तीन मिनट 44.72 सेकंड के समय के साथ ईरान के आमिर मोरादी (तीन मिनट 45 . 62 सेकेंड) को पछाड़कर गोल्ड मेडल जीता। आमिर का यह सीजन का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

महिला टीम ने लगातार पांचवीं बार जीता गोल्ड
भारत की चार गुणा 400 मीटर महिला रिले टीम ने इस स्पर्धा में अपने दबदबे को कायम रखते हुए लगातार पांचवां गोल्ड मेडल अपने नाम किया। हिमा दास, एमआर पूवम्मा, सरिताबेन गायकवाड़ और विस्मया वेलुवा कोरोथ की भारतीय महिला चौकड़ी ने तीन मिनट और 28.72 सेकंड का समय निकालकर गोल्ड मेडल जीता।

पुरुष टीम ने जीती चांदी
भारतीय पुरुष रिले टीम ने सिल्वर मेडल जीता। कुन्हु मोहम्मद, धारुन अय्यासामी, मोहम्मद अनस और आरोकिया राजीव ने तीन मिनट 01.85 सेकंड का समय निकालकर दूसरा स्थान हासिल किया। कतर ने तीन मिनट 00.56 सेकंड के एशियाई रेकॉर्ड समय से गोल्ड मेडल जीता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here