महर्षि बाल्मीकि जयंती : महर्षि वाल्मीकि लौकिक संस्कृत के जनक : संजय सचान अध्यक्ष (नगर पालिका)

0
58

घाटमपुर l  महा ऋषि वाल्मीकि जयंती महर्षि बाल्मीकि पार्क शास्त्री नगर में धूमधाम एवं हर्षोल्लास के साथ संपन्न हुई l इस मौके पर मुख्य अतिथि नगर पालिका अध्यक्ष संजय सचान ने मंच से संबोधित करते हुए कहा कि महर्षि वाल्मीकि लौकिक संस्कृत के जनक थे। उनके मुख से बीज रूप में निकला प्रथम श्लोक ही महाकाव्य का मूलमंत्र बना महर्षि वाल्मीकि के जीवनवृत पर प्रकाश डाला l तत्कालीन और आधुनिक समाज की तुलना करते हुए आधुनिक समाज में व्याप्त सामाजिक कुरीतियों को रेखांकित किया श्री सचान ने कहा कि
उल्टा नाम जपा जग जाना ,बाल्मीकि ब्रह्म समाना, जैसे संत के रास्ते पर चलकर हर कोई जीवन सफल बना सकता है l तो वहीं शिक्षा ,संगठन व संघर्ष पर बाल्मिक समाज को जोड़ दिया l कार्यक्रम में मौजूद वेस नारायण ,संतोष , राम सजीवन ,सुनील कुमार , सर्वेश विश्वकर्मा, ने महा ऋषि वाल्मीकि जयंती पर प्रकाश डाला l सभासद विजय बाल्मीकि ने पालिका अध्यक्ष को शील्ड व माला पहनाकर उनका स्वागत किया l कमेटी की तरफ से पालिकाध्यक्ष ने वेश नारायण, संतोष , राम सजीवन ,सुनील कुमार को शील्ड व शाल पहनाकर सम्मानित किया l पालिका अध्यक्ष ने कमेटी को 5100 का योगदान दिया l कार्यक्रम में प्रकाश ,महेश ,छोटू ,मुन्नीलाल, जितेंद्र ,दिनेश, अमन बख्शी, राकेश आदि लोग उपस्थित रहे l

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here