अनुप्रिया पटेल ने आरक्षण को लेकर प्रदेश सरकार को किया आगाह, विरोध के दिए संकेत

0
1035

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री और अपना दल (एस) की नेता अनुप्रिया पटेल ने को आरक्षण को लेकर प्रदेश सरकार को आगाह किया। उन्होंने कहा कि सरकार यदि आरक्षण में वर्गीकरण चाहती है तो सबसे पहले जातीय जनगणना कराए। इसके बगैर पिछड़े वर्ग के आरक्षण का बंटवारा होता है तो कड़ा विरोध होगा। उन्होंने जिलों में डीएम और एसपी में एक दलित अथवा पिछड़ा वर्ग से तैनात करने की मांग उठाई।

यहां अपना दल की प्रदेश कार्यसमिति की समीक्षा बैठक के दौरान केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश में 1931 में अंगेजों ने जातीय जनगणना कराई थी। बाद में जातीय जनगणना बंद हो गई। इससे पिछड़ी जाति के लोगों को आबादी के लिहाज से योजनाओं का लाभ नहीं मिल सका है। अपना दल (एस) के सुझाव पर ही 2021 में केंद्र सरकार ने पिछड़े वर्ग की जनगणना कराने का निर्णय लिया है। उन्होंने सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट के आधार पर पिछड़े वर्ग के आरक्षण के बंटवारे पर अपना रुख स्पष्ट करते हुए कहा कि हम आरक्षण वर्गीकरण के पक्षधर हैं। मगर आरक्षण पूर्णतया वैज्ञानिक हो। अनुमान के आधार वर्गीकरण ठीक नहीं है। केंद्रीय मंत्री ने संविदा और आउट सोर्सिंग भर्ती में भी पिछड़े वर्ग और दलित वर्ग के लोगों को आरक्षण देने की जोरदार पैरवी की। प्रदेश की तरह केंद्र में भी पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्रालय के गठन की भी मांग उठाई।

सीटों के बंटवारे पर अभी नहीं हुई बातकेंद्रीय मंत्री ने पत्रकारों से कहा कि लोकसभा चुनाव की तैयारी भले शुरू हो गई है मगर सीटों के बंटवारे पर अभी भाजपा नेतृव से चर्चा नहीं हुई है। इसको लेकर आगे आने वाली बैठकों में चर्चा की जाएगी। उन्होंने बुलंदशहर की घटना की कड़ी निंदा की। कहा कि इस घटना में दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

आरक्षण के मुताबिक थानेदार तैनात हों

केंद्रीय मंत्री ने आरक्षण के मुताबिक थानेदारों की भी तैनाती की मांग उठाई है। उन्होंने कहा कि एससी और पिछड़े वर्ग के लोगों को सामाजिक व्यवस्था के अनुरूप थानों में तैनाती मिले। जिससे कि पिछड़े वर्ग और दलित वर्ग के लोगों को न्याय मिल सके।

अनुप्रिया को मुख्यमंत्री बनाए जाने की भरी हुंकारअपना दल (एस) की प्रदेश स्तरीय मीटिंग में कार्यकर्ताओं ने अनुप्रिया पटेल को सीएम बनाए जाने की हुंकार भरी। बढ़पुर में आयोजित बैठक के दौरान प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद पाल ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं में जिस तरीके का उत्साह है, उससे आने वाले समय में या तो हमारा सीएम बनेगा या हमारे बिना सीएम नहीं बनेगा। विधायक हरीराम चेरो ने कहा कि अगर 2022 में अनुप्रिया पटेल को मुख्यमंत्री देखना चाहते हो तो मेहनत के साथ काम करना होगा। कारागार राज्यमंत्री जयकुमार जैकी ने कहा कि कार्यकर्ता अनुप्रिया पटेल को उत्तर प्रदेश की शीर्ष कुर्सी पर बैठाने का प्रण ले चुके हैं। भाजपा महिला मोर्चा की मंडल अध्यक्ष निहारिका पटेल पूरे समय कार्यक्रम में मौजूद रहीं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here