कोरोना की आने वाली तीसरी लहर के संदर्भ में वाइब्रेंट इंडिया फाउंडेशन के सचिव और कानपुर सांसद ने सरकार को भेजे पत्र

0
94

कानपुर l देश में दूसरी कोरोना लहर का कहर देखने को मिल रहा है और तीसरी लहर आने की संभावनाएं को नकारा नहीं जा सकता है, जिसमें बच्चों में संक्रमण होने का ज्यादा खतरा नजर आ रहा है। देश-विदेश के विशेषज्ञों द्वारा पूर्वानुमान के आधार पर व्यवस्था अति आवश्यक है l

कानपुर महानगर से इस विषय पर दो पत्र प्रेषित के लिए भेजे गए हैं। जिसमें प्रथम पत्र कानपुर के सांसद सत्यदेव पचौरी जी ने उत्तर प्रदेश सरकार में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य जी को लिखा था। एमपी जी ने पत्र के माध्यम से तीसरी लहर आने के विषय में अवगत करते हुए कानपुर में स्वास्थ विभाग को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए सहयोग की मांग रखी।


दूसरे पत्र के वाइब्रेंट इंडिया फाउंडेशन के सचिव अंशुल कुमार ने स्वास्थ्य मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार को लिखा और उन्हें पत्र के माध्यम से प्रेषित किया कि प्रत्येक जिले में कम से कम 2 बच्चों के अस्पताल जो पूर्णरूपेण आधुनिक आवासीय मशीनों और तकनीकी सुविधाओं से एनआईसीयू और आईसीयू को संचालित किए जा, क्योंकि वर्तमान में जो बच्चे जैसी हो रहे हैं उन्हें पूरी तरह से सुविधा देने में को डिवाइड सेंट्रल अस्पताल सक्षम नहीं है। सरकारी अस्पतालों पर दबाव बढ़ता जा रहा है इसलिए सरकारी और प्राथमिक अस्पतालों में मुख्य रूप से को विभाजित पॉजिटिव बच्चों के लिए इलेक्ट्रॉनिक सेवाओं को बढ़ाने और व्यवस्थित करने की आवश्यकता है। इसके साथ साथ स्वास्थ्य मंत्री के कोरोना काल में किए जा रहे हैं निरंतर सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया। अंशुल कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री जी के निरंतर प्रयासों से हम सभी कोरोना को हराकर फिर से विजय प्राप्त करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here