आरआरटी प्रभारी पर मुकदमा …डॉक्टरों में आक्रोश

0
215

कानपुर l जहां  कोरोना वायरस से शहर शहर बेहाल है कोरोनावायरस से लड़ने के लिए धरती की भगवान कहे जाने वाले डॉ अपना दायित्व पूरी शिद्दत से निभा रहे हैं l वही आरआरटी ​​प्रभारी डॉ नीरज  सचान पर जब लापरवाही का आरोप लगाकर मुकदमा लिखने के बाद द डॉक्टरों मेंं आक्रोश है l  मामले की जानकारी होने पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ अनिल मिश्रा के साथ दर्जनों चिकित्सा अधिकारी व कर्मी देर रात थाने पहुंच गए। सभी ने जिला प्रशासन पर इस कार्यवाही को तानाशाही बताया और गहरा रोष व्यक्त किया। इस बीच डॉ। सचान की जिले में तैनात डॉ। पत्नी अनु सचान भी थाने में आ पहुँची और पुलिस पर राजपत्रित अधिकारी को थाने में इस तरह से न बैठाए जाने की लिखित आपत्ति की। उन्होंने कहा कि तीन दिन पूर्व ही पति को आरआरटी ​​का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया था।जबकि जिले में वर्तमान में पिछले वर्ष की अपेक्षा पांच गुना केस सामने आ रहे हैं लेकिन सैम्पलिंग में वही 40 टीमें ही अभी भी काम कर रही हैं। उन्होंने कहा कि अव्यवहारिक बताया। इस दौरान थाने में एडीसीपी अभिषेक अग्रवाल और सीएमओ डॉ। अनिल मिश्रा के बीच बातचीत चली। इस संबंध में कानपुर के मंडलायुक्त डॉ। राजशेखर और अपर स्वास्थ्य निदेशक डॉ। जीके मिश्रा की भी बातचीत हुई। सूत्रों की माने तो, वार्ता जिलाधिकारी द्वारा किसी भी हाल में पीछे न हटने पर बेनतीजा रही। वार्ता विफल होने से मंगलवार को जिले की स्वास्थ्य सेवाओं पर असर पड़ने का संकट गहरा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here